निर्मला चौहान कौन है ? निर्मला चौहान को 2 दिन के लिए कलेक्टर क्यो बनाया जा रहा है ?

हैलो दोस्तो , आपका हमारे ब्लॉग mobibuyshop मे स्वागत है आज हम आपको इस पोस्ट मे एसी बाते बताने वाले जिसे आपने शायद कभी नहीं पता होगी हम आपको आज इस पोस्ट मे नएसयूआई के प्रदर्शन में शामिल हुई थी छात्रा निर्मला के बारे मे बताने वाले है और इसे कलेक्टर क्यो बनाया जा रहा है इसकी जानकारी आज हम आपको देने वाले है । बीएस आपको इस आर्टिकल को पूरा पढ़ना है ।

आपने इसे सोशल मीडिया पर एक विडियो देखि होगी जिसमे एक छात्रा नएसयूआई के प्रदर्शन किया जिसमे सभी छात्र अपनी अपनी प्रोब्लेम लेकर आए थे और निर्मला चौहान इसमें शामिल हुई थी जिसमे निर्मला सरकार को प्रदर्शन मे जिला कलेक्टर सोमेश मिश्रा को बहुत सारी बाते सुनाई और इन्हे अपने आप को कलेक्टर बनाने के लिए बोला ।

आपने शोशल मीडिया पर एक विडियो देखि होगी जिसमे वो पाने आप को कलेक्टर बनाने के बारे मे बोल रही है और आज इनकी इसी बात पर इन्हे कुछ दिनो के लिए कलेक्टर बनाया जाएगा बसे पहले मे आपको वो विडियो दिखना चाहता हूँ ।

निर्मला चौहान कौन है ?

इस निर्मला चौहान की ये विडियो आज पूरे भारत मे वाइरल हो रहा है इस विडियो ने भारत सरकार को ही हिला दिया है । अब मे आपको निर्मला चोहन के बारे मे कुछ जानकारी आपको देने वाला हूँ।

आपकी के लिए बता दु की निर्मला चौहान इंदौर मखंडाला खुशाल गांव के एक किसान परिवार की बेटी 18 वर्षीय बालिका झाबुआ कॉलेज के study करती है । ये 7 भाई बहिन है जिसमे 2 भाई है । ये BA फ़र्स्ट इयर मे पढ़ाई करती है। इनका एक वीडियो जोस शोर से छाया हुआ है । जिसमे ये सरकार को बस का किराया माफ और छत्रवरती देने के बारे मे कह रही है ।

निर्मला चोहन के कुछ शब्द;

इस विडियो मे ये बोल रही है की हमे कलेक्टर बना दो हम कलेक्टर बनने के लिए तैयार है ।

इस विडियो मे ये सरकार को चुनोती दे रही है की हम सबकी मांगे पूरी करने के बारे मे बोल रही है की हमे आप कलेक्टर बना दो और हम सबकी मांगे पूरी कर देंगे अगर आपसे ये काम नहीं हो रहा है तो ।

इसमे ये बोल रही है की सरकार किस काम के लिए बनी है और इसमे ये बोल रही है हम यहा पर भीक मांगने के लिए नहीं आए है ,अपना हक मांग रहे है । हम गरीब लोगों की तो कोई व्यवस्था करो, सर। हम इतनी दूर से आते हैं, आदिवासी लोग। कितना पैसा देकर आते हैं।

निर्मला ने कहा की अगर ये काम आपसे नहीं होता तो आप हमे कलेक्टर बना दो हम सबकी मांगे पूरी कर देंगे और पूरी ताकत से मे उनके लिए काम करूंगी ।

निर्मला चौहान को गुस्सा इस कारण से आया की ये बच्चे पिछले 2-3 घंटे से खड़े है और सरकार इमकी बात सुनने को तैयार नहीं है । और इनहोने बोला की अबको अपने अपने हक के लिए लड़ना सीखना चाहिए ।

इस विडियो मे निर्मला चौहान अपने कॉलेज आने जाने के किराए को भी कम करने के बारे मे बोल रही है। ओर इस छात्रा को इसी कारण से 2 दिन के लिए कलेक्टर बनाया जा रहा है ।

clcik here

NSUI के प्रदर्शन क्यो किया ?

दरसल पिछले कुछ दिनो से ये कॉलेज के कुछ छात्र NSUI प्रदर्शन शुरू कर रखा है जिसमे ये अपने आने जाने का बस किराया ज्यादा है जिससे आदिवासी इलाके के छात्र को आने मे मे दिक्कत होती है और ये बचे बहुत गरीब परिवार से है ये बात महासचिव प्रियंका गांधी को भी पता चली है ।

इन छात्रा को आवास बट्टा भी नहीं मिल रहा है , जैसे की आपको पता है ई ये एक गरीब परिवार से है इनके पिता एक किसान है जिस कारण ये अपने बस का किराया भी नहीं दे सकती है

निर्मला चौहान की इस विडियो के चलते सामाजिक कार्यकर्ता डॉ. आनन्द राय ने निर्मला चौहान की UPSC की पढ़ाई का सारा ख्रर्चा उढ़ाने ने बारे मे शोशल मीडिया पर बोला है ।

छात्र की कुछ मांगे ;

  1. बस का किराया कम करे ।
  2. छात्रवर्ती दे ।
  3. कोरोना कल मे क्लास भी नहीं लगी थी ।
  4. आदिवासी इलाके बे मेडिकल कॉलेज खोले ।
  5. पीजी कॉलेज झाबुआ में बैठक‎ व्यवस्था नहीं हैपौर न भूगोल की लैब है ।
  6. इनके महाविधयालय मे टीचर की कमी है ।
  7. कॉलेज शहर से दूर है जिससे आने जाने मे परेसनी आती है

डॉ. आनन्द राय का एलान ;

अब मे आपको डॉ आनंद राय ने जो शोशल मीडिया पर बोला है वो मे आपको line to line बताता हूँ ।

निर्मला चौहान की UPSC तैयारी का खर्च उठाकर उसे कलेक्टर बनाऊंगा,आदिवासी क्षेत्र की बच्चियों के सपने बड़े हैं लेकिन उन्हें पूरा करने वाले हुक्मरान नहीं हैं। डॉ. आनंद राय ने कहा कि लड़की का आत्मविश्वास गजब का है।

पिछले बहुत दिनो से इस प्रदर्शन ने आग सी लगा रखी है इसमे बहुत सारे छात्र और छात्रा शामिल है । जब कलेक्टर आगे नहीं आ रहे थे तो प्रदर्शन मे खड़ी छात्रा निर्मला चौहान आगे आई और कलेक्टर को चुनोटी देने लगी और कहा की क्या mp की सरकार काम नहीं कर रही है? जिस कारण आज निर्मला चौहान को कलेक्टर बनाया जाएगा।

इसके आलवा निर्मला चौहान ने ने बोला की अगर मे कैलेक्टर बन गयी तो किसी भी बच्चे को धूप मे नहीं खडने दूँगी। इसे NSUI ने उसे झाबुआ जिले का महासचिव बनाया है।

Default image
Manish Chhimpa
नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम मनीष छिंपा है, मैं अपनी BSC में अपनी स्नातक की डिग्री कर रहा हूँ। मुझे इंटरनेट, टेक्नॉलजी, कंप्यूटर के बारे में जानने की काफी ज्यादा दिलचस्पी है, जिस कारण मैंने इस ब्लॉग को बनाया है जिसमें आपको इंटरनेट, टेक्नॉलजी, कंप्यूटर, मोबाइल, टिप्स ट्रिक्स तथा ऑनलाइन पैसे कमाने के तरीकों के बारे में बताने वाला हूँ। अगर आपको मेरे आर्टिक्ल पसंद आते है तो मुझे Social Media पर Follow जरूर कर लें।
Articles: 63

Leave a Reply